रबी-उल-अव्वल


रबी-उल-अव्वल हिजरी वर्ष का तीसरा महीना है|इस्लामी या हिजरी कैलेंडर एक चंद्र कैलेंडर है।जो चाँद की गतिशीलता पर आधारित है। जिस में 12 महीने होते हैं। और यह चंद्रमा की गति पर आधारित होते हैं। इस्लामी कैलेंडर हर साल सौर वर्ष (Solar Year) के हिसाब से 10 दिन लगातार कम होते रहता है। इस्लामी साल को सन हिजरी कहा जाता है।

 

अंतिम पैगम्बर मुहम्मद का जन्म रबी-उल-अव्वल के महिना में आमुल फील 571 ई. को हुआ है।अल्लाह के रसूल मुहम्मद अल्लाह द्वारा भेजे गए अंतिम रसूल व नबी है| आप के बाद प्रलय तक अब कोई नबी आने वाले नहीं है| आप पर भेजी गयी आसमानी किताब ‘खुरआन’ है और यही अंतिम दैव वाणी है|

 

विषय सूची

 

खुरआन

खुरआन में अल्लाह नें यह कहा इस्लामी कैलेंडर में बारह महीने होते हैं :

 

“वास्तव में महीनो की संख्या बारह महीने है अल्लाह के लेख में जिस दिन से उसने आकाशों तथा धरती की रचना की है| उनमे से चार हराम (सम्मानित) (यानि इस्लामी कैलेंडर के 1, 7, 11 और 12) महीने है| यही सीधा धर्म है| अतः अपने प्राणों पर अत्याचार न करो तथा मिश्रणवादियों से सब मिलकर युध्ध करते है, और विश्वास रखो कि अल्लाह आज्ञाकारियों के साथ है|” [खुरआन सूरा तौबा 9:36]

 

इस्लामी महीने के नाम

इस्लामी कैलेंडर के 12 माह :

  1. मुहर्रम
     
  2. सफ़र
     
  3. रबी उल अव्वल 
     
  4. रबी उल आखिर 
     
  5. जुमादा अल ऊला  
     
  6. जुमादा अल आखिरह  
     
  7. रजब 
     
  8. शाबान 
     
  9. रमज़ान 
     
  10. शव्वाल 
     
  11. जुल खादह 
     
  12. जुल हिज्जह

 

पवित्र माह

अल्लाह नें खुरआन में कहा हैं यह बारह महीनें में चार महीनें पवित्र महीने है यह चार महीनें का नाम निचे हदीस में कहा गया हैं:

 

अबू बकरह राजी अल्लाहु अन्हुम कहते हैं: पैगंबर मुहम्मद  ने कहा: साल में बारह महीने होता हैं|इस में चार पवित्र महीने हैं|पहले तीन महीने यह हैं कि धुल-क़दह, धुल-हिज्जाह और मुहर्रम, और रजब यह महिना जुमादा अल आखिरह और शाबान के बीच में अता हैं|(सहीह अल-बुखारी: 4406)

 

रबी उल अव्वल की कुछ घटनायें    

अल्लाह के रसूल मुहम्मद का जन्म, 52 या 53 BH – अप्रैल 570 या 571 |

इस्लाम में शराब पीना हराम (निषेध) कर दिया गया, रबी उल अव्वल 4 AH, आगस्ट 625 CE |

बल्ली के प्रतिनिधि इस्लाम स्वीकार करते है, 9 AH |

अनेक युध्ध हुए, जैसा कि – बनू नुदैर, बनी लहयन, तबुक इत्यादि |

जिज्या का आदेश, गैर मुसलमानों पर शुल्क (TAX) डाला गया, ताकि मुसलमानों उनकी सुरक्षा करे और वे सैनिक गतिविधियों से बचे रहे, 9 AH |

उम्मुल मोमिनून, मरिया रजिअल्लाहुअन्हा ने एक लड़के को जन्म दिया, जिनका बाद में देहांत हो गया|

आप ने, अपनी मृत्यु से चार दिन पहले, अंतिम नमाज़ पढाई, 12 रबी उल अव्वल, 11 AH | [5]

इन घटनाओं की असली तिथि अल्लाह बेहतर जानता है|

 

और देखये

इस्लामी महीने, मुहर्रम, सफ़र, और अन्य|

 

आधार

[1] http://www.albalagh.net/general/rabi-ul-awwal.shtml(english)

[2] http://quran.com/9/36(english)           

[3] http://www.islamweb.net/emainpage/index.php?page=articles&id=155869(english)

[4] http://www.sunnah.com/search/four-are-sacred(english)

[5] http://history.muslimscholars.info/index.php?ID=7(english)

 

310 दृश्य
हमें सही कीजिये या अपने आप को सही कीजिये
.
टिप्पणियाँ
पृष्ठ का शीर्ष